सीएमपीडीआई वेबसाइट पर आपका स्वागत है


           सीआईएल मेल           
हमे फेसबूक पर पसंद करे टिवीटर पर फॉलो करना
ऑनलाइन भर्ती
ऑनलाइन भर्ती


अस्वीकृति

खनन इलेक्ट्रानिक्स


सीएमपीडीआई का खनन इलेक्ट्रानिक्स प्रभाग कोल नेट परियोजना के भाग के रूप में ध्वनि तथा डाटा संचार प्रदान करने के उद्देश्य से अनुषंगी कंपनियों के संचार नेटवर्क की प्लानिंग तथा डिजाइन के अतिरिक्त भूमिगत खानों तथा खुली खान परियोजनाओं के लिए इलेक्ट्रानिक्स तथा नियंत्रण प्रणाली की पहचान एवं कार्यान्वयन में सक्रिय रूप से जुड़ा हुआ है। यह विभाग 120टी/170टी/85 टी डम्पर्स , डोवेल्स, ड्रिल्स इत्यादि के आयातित एचईएमएम इलेक्ट्रानिक्स कार्डों की मरम्मती और डीजीएमएस आथारिटी द्वारा किए गए अनुमोदन के आधार पर अंडरग्राउंड माइन्स के लिए विभिन्न गैस डिक्टरों/मानिटरों की मरम्मती एवं अंशशोधनों से संबंधित प्रयोगशाला गतिविधियों से जुड़ा हुआ है।

आधारभूत संरचनात्मक सुविधाएँ:


सीएमपीडीआई लिमिटेड के इलेक्ट्रानिक विभाग के पास खान की सुरक्षा तथा औद्योगिक इलेक्ट्रानिक प्रणाली से संबंधित मरम्मती तथा रख-रखाव कार्य को सम्पन्न करने के लिए पूर्णरूपेण स्थापित एक प्रयोगशाला है। हमारी प्रयोगशाला आईएसओ 9001 के लिए बीवीक्यूआई द्वारा विधिवत् प्रमाणित है तथा पत्र संख्या: 16(2)-84-जेनरल-1075, दिनांक: 20.2.92 एवं पत्र संख्या: 16(7) 2003-जेनरल 1886, दिनांक: 12.5.3 के अनुसार विभिन्न प्रकार के गैस डिडेक्टरों की मरम्मती तथा अंशशोधन का कार्य करने के लिए डीजीएमएस, धनबाद द्वारा मान्यता प्राप्त है। इस प्रभाग द्वारा किए गए महत्वपूर्ण मरम्मती कार्य इसमें शामिल हैं, जो इस प्रकार है:

क)    एचईएम उपकरण का इलेक्ट्रानिक कार्ड



कार्डों का विस्तृत विवरण
क .      ए-170टी/120टी डम्पर्स

1

टीपीपी 17 एफएम 522

2

जीएफएसपी 17 एफएम-491

3

जीएफएम माडयूल

4

लाजिक कार्ड 17 एफडी 11403

5

लाजिक कार्ड 17 एफडी 1402

6

आरसीपी

7

पृथक एम्पलीफायर मॉडयूल

8

लोड रिफ्रेंस, कार्ड 17 एफडी 1163

9

टाइमर कार्ड 17 एफडी 1405

10

एमएफएलपीकार्ड

11

वीएमएम मॉडयूल

12

विद्युत आपूर्ती कार्ड 17 एफडी 1110

13

इलेक्ट्रानिक ड्राइव कार्ड 17 एफडी-1398

14

17 एफडी 1414

15

इलेक्ट्रानिक बफर कार्ड 17 एफ डी 1415

16

इलेक्ट्रानिक कार्ड-17 एफडी-1416

17

इलेक्ट्रानिक कार्ड-17 एफडी-1436

18

इलेक्ट्रानिक कार्ड-17 एफडी-1437

19

इलेक्ट्रानिक कार्ड-17 एफडी-1208

20

इलेक्ट्रानिक कार्ड-17 एफडी-1401

21

इलेक्ट्रानिक कार्ड-17 एफडी-1404

22

टाईमान कार्ड-17 एफडी- 1405

23

इलेक्ट्रानिक कार्ड-17 एफडी-1397

24

इलेक्ट्रानिक कार्ड-17 एफडी-1446

25

क्रो बार/बैटरी बूस्ट

26

17 एफडी-1349

27

17 एफडी-1172

28

एससीआर फ्रिंज कार्ड 17 एफडी-1349

29

17 एफडी-1138

30

मानिटरिंग रजिस्टर्ड कार्ड 17 एफपी-1160

31

रिटार्ड रिफ्रेंस कार्ड 17 एफडी 1468

ख.

रसियन ड्रिल एसबीएसएच 230 एच

1

विद्युत आपूर्ती कार्ड

2

एक्सीटर कार्ड

3

पल्स जेनरेटर कार्ड

4

पल्स एम्प्लीफायर कार्ड

ग.

ड्रैगलाइन 24/96

1

रिले कार्ड

2

रिवर्सेबुल लाजिक कार्ड

3

आटोमेटिक वोल्टेज इसोलेटर कार्ड

4

सिंगल फेज विद्युत आपूर्ति कार्ड

5

वोल्टेज रेगुलेटर कार्ड

घ.

पीएंडएच शॅवेल

1

डिवेटेटर कन्ट्रोल माडयूल

2

वर्तमान रेगुलेटर कार्ड

3

फ्रिंज पल्स एम्प्लीफायर कार्ड

4

वोल्टेज रेगुलेटर कार्ड

5

ब्लेकिंग सर्किट कार्ड

6

ब्लेकिंग एम्प्लीफायर कार्ड

7

एडाप्टर स्विंग कार्ड

8

फ्रिंजपल्स जोन रेटर कार्ड

बीईशावेल

1

वोल्टेज रेगुलेटर कार्ड

चैम्पियन मोटर गार्डर

1

गीयर नियंत्रण कार्ड

85टी कोयाल्सु डम्पर

1

गीयर नियंत्रण (कम्प्यूटर कार्ड) कार्ड

2

वार्निंग नियंत्रक कार्ड

एमके 30 बी (120टी) डम्पर

1

17 एफबी 100 विद्युत आपूर्ति कार्ड

2

17 एफबी, सीपीयू कार्ड

3

17 एफबी, 140 एमलींग कार्ड

4

17 एफबी, 104 डिजिटल कार्ड



ख)    मानिटरों की मरम्मती एवं अंशशोधन:


एनलाग/डिजिटल मिथेनोमीटर तथा मल्टीगैस डिटेक्टर की मरम्मती तथा अंशशोधन कार्य हमारे इलेक्ट्रानिक प्रयोगशाला में किया जा रहा है। वर्तमान में डी 6- एमएसए निर्मित मिथेनोमीटर की मरम्मती तथा इसका अंशशोधन किया जा रहा है तथापि डिजिटल गैस डिटेक्टर की मरम्मती तथा अंशशोधन किया जायेगा।


पूरी की गई योजना/परियोजना:


इलेक्ट्रानिक्स प्रभाग ने कोल इंडिया तथा इसकी अनुषंगी कंपनियों, सिंगरैनी कोलियरी कंपनी लि0, भारत अल्यूमिनियम, हिन्दुस्तान कापर, हिन्दुस्तान जिंक लिमिटेड के लिए विभिन्न प्रकार संभाव्यता रिपोर्ट, परियोजना रिपोर्ट तथा निविदा दस्तावेज तैयार की है।

  • एचएफ, वीएचएफ, मार्ट, ईपीएबीएक्स, डीईसीटी, ओएफसी, वीएसएटी तथा डब्ल्यूएलएएन पर आधारित सतही समेकित संचार-व्यवस्था
  • कोयला वाशरियों तथा सीएचपी के लिए स्वचालन, नियंत्रण एवं संचार व्यवस्था
  • घरेलू यंत्रीकृत साफ्ट कोक प्लांट एवं कोयला गैस प्लांट का मॉनिटरिंग एवं इन्स्ट्रमेन्टेशन
  • भूमिगत (अंडर ग्राउंड) माइन की संचार व्यवस्था एवं मॉनिटरिंग
  • ओपेनकास्ट माइन की संचार व्यवस्था तथा खान प्रबंधन प्रणाली
  • अल्म्युनियम प्लांट के लिए तापमान नियंत्रण, दोनों अनुपातिक नियंत्रण, थिकनेस गेज नियंत्रण
  • पर्यावरणिक मॉनिटरिंग प्रणाली पर आधारित माइक्रोप्रोसेसर की मरम्मत एवं रख-रखाव।(मुनिडीह, टिपौंग, धेमोनेन एवं अमलाबाद वाशरियां(भोजूडीह, राजरप्पा तथा करगली)
  • बीएटीए के जिग के आयातित नियंत्रित कार्डों का देशीकरण(भोजूडीह, राजरप्पा तथा करगली)
  • एनसीएल के दुधिचुआ ओसीपी के लिए ट्रक डिस्पैच प्रणाली हेतु तैयार की गई एनआईटी
  • 1986 में 3 माह के लिए राजरप्पा ओसीपी में खान प्रबंधन प्रणाली का संचालित क्षेत्रीय निरीक्षण


अनुसंधान एवं विकास की गतिविधियाँ:


इलेक्ट्रॉनिक्स प्रभाग देश के प्रतिष्ठित अनुसंधान संस्थानों और प्रतिष्ठित निर्माताओं जैसे आईआईटी, खड़गपुर, आईआईटी, कानपुर, सीईईआरअई, पिलानी, सीएफआरआई (केंद्रीय ईंधन अनुसंधान संस्थान) धनबाद और बीआईटी, मेसरा के साथ नई प्रणाली और विभिन्न अनुसंधान एवं विकास गतिविधियों के लिए जुड़ा हुआ है. महत्वपूर्ण परियोजनाओं की सूची नीचे सूचीबद्ध हैं

  1. सीडीएस प्रणाली:
    कई पार्टियों उदाहरणार्थ एकेजी इलेक्ट्रानिक्स, एसईएमईएक्स इंडिया बेल्ट्रोन इत्यादि के साथ स्थानांतरित एवं व्यापारीकृत जानकारी
  2. साउण्ड पावर्ड टेलीफोन प्रणाली:
    मेसर्स ऐ.के.जी इलेक्ट्रानिक्स के सहयोग से विकसित
  3. केज कम्युनिकेशन प्रणाली:
    मूनिडीह, बीसीसीएल में मेसर्स बेल्ट्रोन के सहयोग से विकसित एवं स्थापित विदेशी निर्मित एक ऊपर उठती हुई संचार प्रणाली का बी.जी.एम.एल, कोलार में परीक्षण किया गया।
  4. इन्डक्टिव कम्युनिकेशन प्रणाली:
    मेसर्स बेल्ट्रोन के सहयोग से अभिकल्पित (डिजाइन्ड) एवं विकसित
  5. निस्रावी (लीकी) फीडर कम्युनिकेशन प्रणाली:
    एसएंडटी परियोजना के अंतर्गत सीईईआरआई के पिलानी के सहयोग से विकसित एवं हिन्दुस्तान कापर लि., सतही खान में इसका परीक्षण किया गया।
  6. ट्रेण्ड माइनर्स के लिए वीएलएफ (वैरी लो फ्रीक्वेंसी) संचार व्यवस्था:
    आईआईटी, कानपुर के सहयोग से अभिकल्पित (डिजाइन्ड) तथा विकसित, कुसमुण्डा, बीसीएल में तथा सिरका खान, सीसीएल में परीक्षण किया गया।
  7. गोफ टेम्प्रेचर मॉनिटरिंग प्रणाली:
    एसएंडटी परियोजन के अंतर्गत बीआईटी मेसरा के सहयोग से विकसित, धेमोमेन तथा शीतलपुर कोलियरी, ईसीएल में इसका परीक्षण किया गया।
  8. डिफेक्टोग्राफ:
    आईएएसएम, धनबाद के सहयोग से विकसित तथा डब्ल्यूईबीएल को जानकारी स्थानांतरित की गई।
  9. रन अवे कोल टब वर्निंग सिस्टम:
    एसएंडटी अनुदान के अंतर्गत बीआईटी मेसरा के सहयोग से विकसित/सेंट्रल सौन्दा में इसका परीक्षण किया गया।
  10. पर्यावरणिक प्रबोधन प्रणाली:
    टीडीसी फंडिंग के अंतर्गत मेसर्स आप्ट्रान तथा मेसर्स भेल के सहयोग से विकसित इसका क्षेत्रीय परीक्षण पीके-1 माइन्स एससीसीएल तथा तिरात कोलियरी, ईसीएल में किया गया।
  11. माइन-वाइन्डर मॉनिटरिंग प्रणाली:
    टीडीसी योजना के तहत सीईईआरआई के सहयोग से विकसित। मेसर्स वी.के.इन्डस्ट्रीज, राजस्थान तथा मेसर्स एण्ड्रो युले, कोलकाता को इसकी जानकारी स्थानान्तरित की गई।
  12. कोयले की राख का प्रबोधन (माइनिंग) सिस्टम:
    टीडीसी फंडिंग कार्यक्रम अंतर्गत ईसीआईएस, हैदराबाद के सहयोग से विकसित दुग्धावाशरी बीसीसीएल में इसका क्षेत्रीय परीक्षण किया गया।
  13. कोल टब वेईंग काउन्टिग सिस्टम
    विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परियोजना के तहत बी आई टी मेसरा के सहयोग से विकसित। इसका परीक्षण हथिडारी इन्क्लाइन, सी सी एल में।
  14. भूवैज्ञानिक डिसकंटीन्यूटीज
    आई आई टी, खड़गपुर के सहयोग से विकसित किया जा रहा है।
  15. दामोदर फ्लड लेबल वार्निंग सिस्टम
    बी आई टी मेसरा के सहयोग से विकसित और ए. के. खान, सी सी एल में परीक्षित।
  16. लाउड हेलिंग कम्यूनिकेशन सिस्टम
    आई आई टी बेंगलोर के सहयोग से विकसित और सौंदा डी, सी सी एल में परीक्षित।
  17. लेजर अलाइनमेंट सिस्टम
    ज्योति लि. के सहयोग से विकसित और मूनीडीह बी सी सी एल में परीक्षित।
  18. शाफ्ट सिग्नलिंग सिस्टम
    डब्लू एस एफ, कलकता के सहयोग से विकसित और सौंदा डी, सी सी एल में परीक्षित।


चालू परियोजनाएं/कार्य


  • ई सी एल के लिए वायस/आकड़े के दूर-संचार नेटवर्क का टर्न की (आद्योपांत) निष्पादन।
  • एम सी एल के लिए वायस/आकड़े के दूर-संचार नेटवर्क हेतु योजना।
  • 170 टी/120 टी डम्परों, शावेलों, ड्रैगलाइन और ड्रिलों के लिए एच ई एम एम इलेक्ट्रानिक कार्डों की मरम्मत।
  • मीथेनोमीटर (डी 6- एम एस ए मेक) एवं डिजीटल गैस डिटेक्टर।
  • विभिन्न परियोजना रिपोर्टों के लिए इलेक्ट्रानिक और टेलिकम्यूनिकेशन पर चैप्टर।
  • आई आई टी, खड़गपुर के सहयोग से रडार तकनीक के जरिए भूवैज्ञानिक डिसकंटीन्यूअटी पर अनुसंधान एवं विकास निधित परियोजना।